परेशान एयरसेल यूजर्स समस्या से निजात के लिए अपनाएं ये उपाय-


एयरसेल कंपनी आखिरकार शटर गिरा दी. इससे कंपनी को नुकसान झेलना पड़ा लेकिन सबसे ज्यादा दिक्कत एयरसेल यूजर्स को हो रही है. ना तो नेटवर्क मिल रहा है और ना ही कुछ और कर पा रहे हैं. हालांकि बहुत सारे यूजर्स के पास डबल नंबर होने से दिक्कत नहीं हो रहा है लेकिन जिन लोगों के पास सिंगल नंबर था या परमानेंट नंबर था उन्हें काफी दिक्कत हो रही है. लेकिन वे लोग इस समस्या से जल्द ही निजात पा सकते हैं.


एयरसेल यूजर्स अपने नंबर को बंद किए बिना लाभ उठा सकते हैं. साथ ही आपको बता दें कि नेटवर्क नहीं मिलने पर भी आप चाहें तो इसका फायदा ले पाएंगें. इसके लिए हम आपको कुछ उपाय बता रहे हैं जो कि आपके लिए कारगर सिध्द होगा. एयरसेल की समस्या से जूझ रहे दोस्तों को इस जानकारी अवश्य शेयर करें ताकि इसका लाभ लें.

मीडिया की मानें तो टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने कंपनी को निर्देश दिए हैं कि वह एक यूनीक पोर्ट कोड (UPC) जनरेट करे, ताकि मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी (MNP) की सुविधा ग्राहकों को दी जा सके. सेवाएं बंद होने के कारण एयरसेल के ग्राहकों को नेटवर्क में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. कॉल ड्रॉप्स भी परेशान कर दिया है.

 

यूपीसी से मिलेगा निजात-

  • ऐसे में एयरसेल ग्राहक अपने नंबर्स पोर्ट करा रहे हैं. अगर आप भी एयरसेल ग्राहक हैं और अपना नंबर पोर्ट कराना चाहते हैं तो यह जानकारी आपके लिए जरूरी है. इसकी मदद से आप अपना एयरसेल नंबर आसानी से पोर्च करा पाएंगे.
  • अपने मोबाइल मैसेज में जाकर ‘PORT’ टाइप करें
  • स्पेस देकर अपना 10 डिजिट का मोबाइल नंबर डालें
  • अब 1900 पर भेजें.
  • आपके पास ‘पोर्ट आउट’ कन्फर्मेशन मैसेज आएगा. मैसेज कन्फर्म करें.
  • अब आपको एक Unique Port Code (UPC) मिलेगा. ध्यान दें कि UPC आने में कुछ घंटे लग सकते हैं.
  • आप जिस नेटवर्क पर अपना नंबर पोर्ट कराना चाहते हैं, उसके स्टोर पर जाकर यूपीसी नंबर देकर SIM लें. अपने दस्तावेजों (आधार नंबर) के साथ-साथ UPC भी सब्मिट कराना होगा.

 

कॉल करें-

  1. मैसेज के अलावा एयरसेल कस्टमर चाहें तो 9852012345 नंबर पर कॉल करें.
  2. इसके बाद भाषा का चयन करें.
  3. साथ ही आपको यूपीसी का चयन करना होगा.
  4. इसके बाद बताई जा रही जानकारी के अनुसार फॉलो कर यूपीसी प्राप्त करें.

 

अंतिम तिथि-

आपको बता दें कि एयरसेल पोस्टपेड-प्रीपेड कनेक्शन्स को ‘पोर्ट आउट’ कराने आपको कस्टमर केयर सेंटर से बात करनी होगी. सबसे जरूरी जानकारी के लिए आपको बता दें कि UPC की सुविधा 15 अप्रैल तक उपलब्ध रहेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *