#MeToo: PM Modi से यौन शोषण की करें शिकायत , कोर्ट गए बिना मिलेगा इंसाफ!


PC-google image

#MeToo के जाल में शिकारी खुद ही फंसते जा रहे हैं। नाना पाटेकर के बाद कितने सारे स्टार, मंत्री-नेता, क्रिकेट अधिकारी, पत्रकार पर तलवार लटकी है। यौन शोषण-उत्पीड़न, छेड़खानी, रेप की घटनाओं ने सबको झकझोर दिया है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कदम ना उठाए ऐसा हो नहीं सकता है। अब मोदी सरकार आपके साथ है, देश आपके साथ है। ना डरे, ना संकोच करें, बेहिचक अपने दर्द-जुल्म को बताएं। यानी कि अब यौन शोषण करने वालों की अब खैर नहीं। सीधे सरकार से शिकायत करें।


मोदी सरकार का ये बड़ा फैसला है। तो वहीं, महिलाओं के लिए सौगत है। मी टू अभियान से जुड़िए लेकिन न्याय चाहिए और दोषियों को फौरन सजा दिलवानी है तो फिर हमारी बात को गांठ बांध लिजिए। इतना ही नहीं आप चाहती हैं कि आपका नाम उजागर ना हो तो फिर सरकार के इस सेवा के साथ जुड़िये। अब बस आपको एक काम करना है और अपराधी जाएगा जेल के भीतर।

ऐसे करें मोदी सरकार से शिकायत

हमारी महिला कल्याण मंत्री मेनका गांधी ने पीड़िताओं को इंसाफ दिलाने के लिए स्पेशल सेवा शुरू की है। इस सेवा के जरिए आप पुलिस स्टेशन, कोर्ट कचहरी जाए बगैर ही दोषियों को सजा दिला सकती हैं। बस आपको एक काम करना होगा। इसके चार उपाय हैं। इनमें से आप अपनी सुविधा के हिसाब से रास्ता चुन सकती हैं।

पहला उपाय

  • सबसे पहले केंद्रीय महिला व बाल विकास मंत्रालय की अधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। वहां जानें के बाद shebox नाम के बॉक्स पर जाकर अपनी शिकायत दर्ज कराएं।
  • दूसरा उपाय थोड़ा लंबा है लेकिन बेहतर है। डायरेक्ट गूगल में टाइप करें www.shebox.nic.in यहां जाने के बाद आप अपनी शिकायत दर्ज करें। मांगी जा रही सारी जानकारी को सही-सही भरें।
  • तीसरा रास्ता अपनाएं यानी कि [email protected] पर अपनी लिखित शिकायत मेल करें।
  • चौथा उपाय यह है। यदि आप ट्विटर यूज करती हैं तो फिर फटाक से #HelpMeWCD के साथ अपनी शिकायत को ट्विट करें। इस ट्विट पर मंत्रालय की ओर से फौरन एक्शन लिया जाएगा। आप चाहें तो अपनी शिकायत कॉपी संलग्न कर सकती हैं। इसके साथ ही आप मंत्रालय की ट्विटर हैंडल के साथ जरूर टैग करें।
  • इन सभी प्रक्रियाओं के बाद मंत्रालय की ओर से आपसे संपर्क किया जाएगा। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। ध्यान दें कि इनमें से कोई एक रास्ता ही अपनाएं।

जजों की कमेटी करेगी जांच

आपके इन शिकायतों के लिए मोदी सरकार की ओर से एक कमेटी का गठन होने जा रहा है। इस कमेटी में रिटायर हो चुके जज रहेंगे जो कि आपके केस की सुनवाई करेंगे। तो फिर किसी भी प्रकार से आपके ऑफिस या दफ्तर में यौन शोषण, उत्पीड़न या घर में ऐसी घटनाओं हो रही हैं तो शिकायत करने में देरी ना करें। सरकार ने आपको इतने सारे रास्ते दिए हैं अब तय आपको करना है की मनचलों बदमाशों को मजा कैसे चखाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *