गूगल सिक्योरिटी डायरेक्टर ने बताया, एंड्राइड स्मार्टफोन्स भी आईफोन जितने ही सुरक्षित है

Android phone as safe as iphone

 


एंड्राइड की यह घोषणा, एप्पल के फैनबॉय और उन लोगों के लिए एक करारा जवाब है, जिन्होने यह मान लिया था कि एप्पल का iOS, एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम से ज्यादा सुरक्षित है। तो, आपको बता दें कि इस बात की चिंता करना छोड़ दें। एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम की सिक्योरिटी में बहुत आगे बढ़ चुका है और अब वह एप्पल के iOS जितना ही सुरक्षित है।
मैनहेट्टन में मंगलवार को हुई गूगल की इस सिक्योरिटी कॉन्‍फ्रेंस में कंपनी के सिक्‍युरिटी डायरेक्‍टर एड्रियन लुडविंग ने कहा है कि गूगल का नया फोन पिक्‍सल और ऐपल का आइफोन सुरक्षा के मामले में लगभग एक समान हैं। उन्‍होंने साथ ही यह भी कहा कि एंड्रायड जल्‍द ही और बेहतर हो जाएगा।

सुरक्षा की दृष्टि से एंड्राइड बन जायेगा दुनिया का सबसे सेफ ऑपरेटिंग सिस्टम

उन्होंने आगे कहा कि लंबे समय में एंड्रायड का ओपन ईकोसिस्‍टम और बेहतर स्थान पर नजर आएगा। इस दौरान उन्‍होंने एंड्रायड के इनबिल्‍ट सुरक्षा प्‍लेटफॉर्म सेफ्टी नेट के बारे में बात करते हुए कहा कि यह 400 मिलियन हैंडसेट को स्‍कैन करने में सक्षम है वहीं एक दिन में 6 बिलियन ऐप को भी स्‍कैन कर सकता है। यह सॉफ्टवेयर इस बात का ध्‍यान रखता है कि कम से कम डिवाइजेज मालवेयर (वायरस) से प्रभावित हो पाएं।
उन्‍होंने इस दौरान एक ग्राफ भी दिखाया जो बताता है कि केवल एक प्रतिशत डिवाजेज ही किसी नुकसानदायक ऐप से प्रभावित होते हैं। इसके बाद उन्‍होंने पिछले साल एंड्रायड मोबाइल्‍स को प्रभावित करने वाले विवादित बग की बात की और कहा कि भले ही इसके चलते सभी यूजर्स को खतरा पैदा हो गया लेकिन अब तक इससे किसी भी डिवाइज के हैक होने की सूचना नहीं है। उन्‍होंने कहा कि पिछले साल एंड्रायड की सुरक्षा और बेहतर हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *