हड्डियों का रोग ठीक करना है तो बाजरा खायें। बाजरे के और भी गुण जानने के लिए पोस्ट को पूरा पढें।

बाजरे के गुणों का तो सभी को पता होगा। बाजरा भी एक प्रकार का अनाज ही होता है। बाजरे से हम बहुत सारी चीजें भी बना सकते हैं। बाजरे की खीचड़ी का स्वाद तो जबरदस्त होता है। बाजरे की रोटी भी बनती है। और बाजरे की रोटी को आप हरी सब्जी के साथ खा लोगे तो आप गेहूं सी रोटी को भूल जाओगे।
क्या आपको पता है की बाजरा औषधि के रूप मे भी प्रयोग किया जाता है। अगर यही पता है तो आज हम आपको बता देते है इसके औषधीय गुण।


हड्डियों का रोग ठीक करना है तो बाजरा खायें

1. अगर आपको शरीर मे कही भी कोई हड्डी से रिलेडिड कोई भी दर्द है तो आप बाजरे का इस्तेमाल करें। आपका दर्द दूर हो जायेगा।
2. बाजरे की रोटी में स्वाद के साथ साथ इसमें गुण भी बहुत होते है।  जो व्यक्ति बाजरे की रोटी खाता है उसे कैल्शियम की कमी से होने वाला रोग जिसका नाम आस्टियोपोरोसिस है वो ही होता और साथ में आपको एनीमिया भी नहीं होगा।
3. बाजरे का एक गुण लीवर की बीमारी के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। बाजरे में सबसे ज्यादा ऊर्जा होती है चावल और गेहूं से भी ज्यादा। बाजरे का प्रयोग करेंगे तो सम्भव आपको लीवर के रोग नहीं होंगे।
4. आपको पहले भी बताया है कि बाजरे में हड्डियों के रोग से लड़ने की ताकत होती है। और इसमें आयरन भी खुब मात्रा में पाया जाता है।
5. जो भी बहन या माता गर्भवती है और आप कैल्शियम की गोली लेती हैं तो आप इन गोलियों की जगह पर बाजरे की रोटी खा सकती हैं।

6. बाजरा हर रूप मे गुणों से भरपूर है। जो महिला बाजरे का सेवन करती है उसको प्रसव मे पीडा न के बराबर होती है।
7. डाक्टरों ने इसे सभी अनाजों में वज्र की उपाधि दी है इसके गुणों को देखते हुए।
8. अब सर्दियों मे आप इसकी खीचड़ी बना कर खा सकते हो। जो की बहुत लाभकारी होती है।
9. बाजरे के उपयोग से आप उच्च रक्तचाप और ह्रदय और अस्थमा जैसे रोगों तथा बच्चों को दुध पिलाने वाली मां मे दुध की कमी को पूरा करता है।
10. बाजरा नींद ना आने की बीमारियों और माइग्रेन जैसे बीमारियों मे लाभदायक होता है।
आशा करता हूँ कि दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और बाजरे की उपयोगिता को समझ पायें होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *